Take a fresh look at your lifestyle.

नई दिल्ली- नीतिगत बदलावों के बाद लावा ने यह कदम उठाने का किया फैसला

0 39

मोबाइल उपकरण बनाने वाली घरेलू कंपनी लावा इंटरनेशनल ने शुक्रवार (15 मई) को कहा कि वह चीन से अपना कारोबार समेट कर भारत ला रही है। भारत में हाल में किए गए नीतिगत बदलावों के बाद कंपनी ने यह कदम उठाने का फैसला किया है। कंपनी ने अपने मोबाइल फोन विकास और विनिर्माण परिचालन को बढ़ाने के लिए अगले पांच साल के दौरान 800 करोड़ रुपए निवेश की योजना बनाई है।

लावा इंटरनेशनल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक हरी ओम राय ने कहा, ”उत्पाद डिजाइन के क्षेत्र में चीन में हमारे कम से कम 600 से 650 कर्मचारी हैं। हमने अब डिजाइनिंग का काम भारत में स्थानांतरित कर दिया है। भारत में हमारी बिक्री जरूरतों को स्थानीय कारखाने से पूरा किया जा रहा है।”
उन्होंने कहा, ”हम चीन के अपने कारखाने से कुछ मोबाइल फोनों का निर्यात दुनियाभर में करते रहे हैं, यह काम अब भारत से किया जाएगा।” भारत में लॉकडाउन अवधि के दौरान लावा ने अपनी निर्यात मांग को चीन से पूरा किया। राय ने कहा, ”मेरा सपना है कि चीन को मोबाइल उपकरण निर्यात किए जाएं। भारतीय कंपनियों मोबाइल चार्जर पहले ही चीन को निर्यात कर रही हैं। उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना से हमारी स्थिति में सुधार आएगा। इसलिए अब पूरा कारोबार भारत से ही किया जाएगा।”

उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार ने इस अप्रैल में 48 हजार करोड़ रुपए के प्रोत्साहन वाली इलेक्ट्रॉनिक नीति की घोषणा की थी। इसके तहत कंपनियों को कई तरह की रियायतें दी जाएंगी। साथ ही अगले पांच साल में इससे 20 लाख रोजगार सृजन का लक्ष्य है। एक आकलन के अनुसार चीन स्थित करीब एक हजार कंपनियां भारत में अपना कारोबार स्थापित करने की संभावना तलाश रही हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.